instagram follow
Ad

आर सी के प्रकरणों में सख्ती बरतें और संबंधित से शतप्रतिशत वसूली करें : डीएम रमाकांत पाण्डेय

जिलाधिकारी रमाकांत पाण्डेय ने सभी उप जिलाधिकारियों को निर्देश दिए कि आर सी के प्रकरणों में सख्ती बरतें और संबंधित से शतप्रतिशत वसूली करना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए कि उनकी अध्यक्षता में प्रत्येक शुक्रवार को तहसीलदार एवं उप जिलाधिकारियों की बैठक का आयोजन किया जाएगा, जिसमें वसूली सहित अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों के निस्तारण पर चर्चा की जाएगी। उन्होंने स्पष्ट करते हुए कहा कि वसूली कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाशत नहीं की जाएगी। उन्होनंे यह भी निर्देश दिए कि सभी अधिकारी कर करेत्तर से संबंधित विभागीय लक्ष्य को शत प्रतिशत पूरा करना सुनिश्चित करें और प्रर्वतन कार्य में गतिशीलता लाते हुए प्रभावी कार्य करें, ताकि किसी भी स्तर पर करापवंचन का कार्य किया जाना सम्भव न हो सके।

उन्होंने उप जिलाधिकारी तथा विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि 20-20 बड़े बकायादारों की सूची तैयार करें और प्रभावी रूप से राजस्व वसूली की कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। जिलाधिकारी श्री पाण्डेय आज शाम 03ः00 बजे कैम्प कार्यालय कक्ष में आयोजित कर-करेत्तर एवं स्टाफ राजस्व बैठक की अध्यक्षता करते हुए उपस्थित अधिकारियों को निर्देश दे रहे थे।उन्होंने निर्देश दिए कि कर वसूली का कार्य पूरी गंभीरता और सजगता के साथ सम्पादित किया जाए और लक्ष्य के सापेक्ष मासिक और वार्षिक प्रगति सुनिश्चित की जाए और किसी भी अवस्था में करापवंचन न होने पाए। उन्होंने राजस्व से संबंधित विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिए कि पूरी गंभीरता के साथ वसूली के लक्ष्य को शत प्रतिशत रूप से पूरा करना सुनिश्चित करें। समीक्षा के दौरान विद्युत, आबकारी, सिंचाई, बाटमाप, खनिज विभाग द्वारा विभागीय लक्ष्य के सापेक्ष संतोषजनक कार्य किया गया।

श्री रमाकांत पाण्डेय ने सभी उप जिलाधिकारियों एवं तहसीलदारों को निर्देश दिए कि निर्धारित दायरे के सापेक्ष न्यायिक कार्य करना सुनिश्चित करें और अनावश्यक रूप से कोई भी वाद लम्बित न रखें। उन्होंने कहा कि नियमित रूप से न्यायिक कार्य न करने से एक ओर वाद लम्बित होते हैं, वहीं आमजन को न्याय न मिलने से असंतोष भी उत्पन्न होता है। उन्होंने सभी पीठासीन अधिकारियों को निर्देश दिए कि वादों के गुणवत्तापरक निस्तारण कार्य में तेजी लाएं ताकि अनावश्यक रूप से वाद लम्बित न रहने पाएं। उन्होंने निर्देश दिए कि तहसीलों में मानक से अति ज्यादा लम्बित वादों का संबंधित अधिकारी से निराकरण न कराने वाले तथा तीन साल से अधिक पेशकार पद पर कार्य कर रहे पेशकारों को तत्काल स्थानान्तरित करना सुनिश्चित करें। उन्होंने यह भी निर्देश दिए प्रत्येक तहसीलदार दाखिल दफ़तर होने वाली पत्रावलियों का समयबद्वता के साथ निस्तारण करें और नियमित रूप से कोर्ट कार्य कर पूर्ण गुणवत्ता और मानक के अनुरूप वादों का निस्तारण करना सुनिश्चित करें।

इस अवसर पर अपर जिलाधिकारी वि/रा अवधेश कुमार मिश्र, प्रशासन विनोद कुमार गौड़, उप जिलाधिकारी विक्रमादित्य सिंह मलिक, अतिरिक्त जिला मजिस्टेªट परमानन्द झा सहित सभी उपजिलाधिकारी, तहसीलदार तथा राजस्व से संबंधित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

बिजनौर एक्सप्रेस के माध्यम से लाखो लोगो तक अपने व्यापार(Business), व्यक्तिगत छवि,चुनाव व व्यवसायिक उत्पाद(Products) प्रचार प्रसार हेतु संपर्क करें- 9193422330 | 9058837714

ad

और पढ़ें